emotional love story in hindi झलके आंसू बेहता पानी टूटा दिल कहे जुबानी

श्री शिवाय नमस्तुभ्यं  real life motivational story in hindi  बेटी बनकर हर कर्तव् को मैंने बखूबी निभाया हैं घर मैंने भी बड़ा बेटा बनकर चलाया हैं  बड़ी मन्न्नतो से खुदा से पापा ने  मुझे माँगा हैं चादर चढाने दरगाह पर खुद पापा ने मुझे भेजा हैं मेरी हर छोटी छोटी ख्वाहिशो को उन्होंने पूरा किया हैं

बड़ा बेटा मान कर मुझ पर खूब लाड लड़ाया हैं   कमजोर नहीं हु मैं शेरनी कह कर मेरे पापा ने मुझे बुलाया हैं वक्त का किया भरोसा और  हमें किया पता  जिंदगी कितनी बड़ी हैं  हमें कैसे पता उनसे मैं बिछड़ सी गई तकलीफो मैं मानो घिर सी गई, emotional love story in hindi   

यादो को तस्वीरों मैं उन्हें बदले का शोक था उनके साथ खिचवाई आखरी तस्वीर यादो मैं बदल जाएगी किसे पता था तन्हाई और अकेले पन से लड़ रही थी  मैं अपना दर्द किस को बताऊँ एक ऐसी तस्वीर ढूढ़ रही थी मैं जिसे चाहा मैंने उसकी न हो पाई मैं जिसे न चाहा मैंने उसकी कैसे हो गई मैं लड़ते झगड़ते कब मैं उसकी हो गई तस्वीर मेरी उसके दिल मैं छप गई ,

Emotional love story in hindi झलके आंसू बेहता पानी टूटा दिल कहे एक सच्ची जुबानी

emotional love story in hindi

मिला मुझे इश्क़ मैं फरेब था इतना शीद्दत वाला जो मेरा इश्क़ था आखिर मैं गणेश को ही तो मुझसे प्यार था तस्वीर मैंने उसकी देखि थी मानो पापा से मिल आई मैं  मुझे भी इश्क़ है उनसे ये उन्हें बता आई मैं यादो का गुलदस्ता मिलकर सजाएँगे अब तो हर तस्वीर तुम्हारे संग ही खीचाएँगे यदि तुम न मिले हमें तो अपनी तस्वीर जीवन मैं कभी किसी के साथ न खीचाएँगे,

शादी  तुम्ही से करेंगे ये बात हम घर मैं जरूर बताएंगे,short motivational love story in hindi हर दुःख तकलीफो को सहारा बनोगे तुम घर मेरे माँ से मिलने आओगे तुम तकलीफो मैं कभी साथ न छोड़ोगे माँ से हाथ मेरा मांगो-गे तुम छूट रहा था घरवालों का साथ दूजी तरफ बड रहा था प्रेम का समंदर तेरी और लहरों ने भी किनारे कर दिया,

घर वालो ने भी उसका हाथ मेरे हाथ मैं देके मुझे घर से बहार कर दिया कैसे सपने सजा लेती कैसे बिन माँ के  ब्याह रचा लेती आँखों से पानी रुक नहीं रहा था वक्त मनो थम सा गया था  किसके घर कैसे जाऊ कुछ समझ नहीं आ रहा था मुसीबत मैं फरिश्ते आ जाते हैं और बुरे वक्त मैं तो दोस्त ही काम आते हैं,short motivational love story in hindi ,

बिन शादी कैसे उसके घर जाती किया बिना शादी के उसके घर मैं रह पाती  रो रो कर आँखे नम हो रही थी बिन माँ के कल मेरी शादी जो हो रही थी शुक्रगुजार हु महादेव का जिन्होंने मेरा हर पल साथ दिया तस्वीर पिता की जिन्होंने मुझे आशीर्वाद दिया  सब कुछ था मेरे पास फिर भी कुछ कमी सी खल रही थी यादो का था तकिया फिर भी आँखों मैं नींद कहा थी सोना तो माँ की गोद मैं चाहती थी पर माँ कहा थी , emotional love story in hindi,

emotional love story in hindi

NATIVE ASYNC

आँखो से भीग जाता था तकिया जब याद आते थे वो पल तकलीफ ये नहीं थी की माँ ने घर से मुझे निकाला था आज नहीं तो कल मुझे बाबुल के  घर से जाना ही था आखिर मैं ये फैसला माँ को ही तो मुझे  सुनाना था तकलीफ तो इस बात से हमेशा  मुझे रहेगी कल तक जो मुझ पर लाड लड़ाते थे आँखों से पानी मेरे बह जाए  तो देख नहीं पाते थे हथेली पर मुझे रखते थे सीने से लगाए रखते थे, emotional love story in hindi,

सब की लाड़ली थी न मैं क्यू मुझे सभी लोग समझ न पाए मेरे फैसले और मेरे दर्द को क्यू देख न पाए एक बार तो मेरी भी सुन लेते समझ लेते कम से कम मुझे एक मौका तो देते पलके झपकते ही बुरी हो गई मैं आँखों से तुम्हारे ओझल सी  हो गई मैं एक पल मैं मुझे पराया कर दिया किया  सच मैं इतनी बुरी हो गई मैं इस तकलीफ इस दर्द को  घुट घुट कर पि लुंगी पर तुम लोगो के असली चेहरे कभी भूल न पाऊँगी भूल न पाऊँगी ,

  emotional love story in hindi भर आती हैं आँखे मेरी काश मेरे पापा होते सीने से लगा कर बिदाई मेरी करते रुठ जाती तो हस कर मुझे मना लेते मांग लेती कुछ भी उनसे तो मुस्कुराकर कर मुझे दे देते खुद को जब अकेला पाती हु तो टूट कर चूर चूर हो जाती हु जब तकलीफो से गुजरती हु तो सहम सी जाती हु  चुप रहकर सब कुछ सह लुंगी आंखे बंद करके तस्वीर तुम्हारी देख लुंगी तरस रही हु शेरनी सुनने को अपनी पीठ पर हाथ थपथपाने को  पापा मुझे तुम बहुत याद आते हो  क्यू अपने पास मुझे  नहीं बुलाते हो ,short motivational love story in hindi,

पापा को गर्व है मुझ पर उन्हें मेरे फैसले से कोई ऐतराज नहीं  उनका भरोसा कभी न तोडूंगी हर फ़ैसले पर खरी उतरूंगी  मेरे फैसले से खुश बहुत हैं वो मेरी छोटी छोटी खुशियों मैं खुश हो लेते हैं वो इतना प्यार करते हैं मुझसे वो जब भी उन्हें याद करू तो सपनो मैं आजाते हैं,

वो  सोचती हु आज जी भर के सोलू कुछ बाते हैं जो  पापा से करलो डरती हु कहि मेरी आँखे न खुल जाए कही मेरा सपना सपना न रह जाए मैं अकेले मैं बैठ कर ऑंसू बहा लेती हु तस्वीर उनकी देख कर चुप हो लेती हु कही मुझे देख कर उन्हें तकलीफ न हो इसलिए हसने की एक्टिंग कर लेती हु मैं  कमजोर नहीं हु बस थोड़ी सी अकेली सी पड़ गई हु मैं ,  emotional love story in hindi,

सबका दिल जित लेती हो सीने मैं दर्द लिए क्यू घूमती हो मुझसे बे पनाह मोहब्बत करती हो इस बात मैं कोई शक नहीं किया मेरी मोहब्बत मैं कुछ कमी हैं इसलिए मुझे बताने से डरती हो इज्जत करते हैं तुम्हारी तुम्हारे हर फैसले की खुद से ज्यादा तुम पर ऐतबार है,

पूरी दुनिया मैं सिर्फ मुझे तुम्ही से ही तो प्यार हैं  मेरी असीमित मोहब्बत का समंदर हो तुम आखरी  और पहली मोहबत हो तुम मेरे प्रेम का आइना तो देखा होता मेरे गुस्स्से के पीछे मोहब्बत तो देखि होती तो शायद सीने मैं दर्द न होता और मुझसे छुपाने के लिए तुम्हारे पास कभी  कुछ न होता,   real life motivational story in hindi,

छोटे छोटे बच्चो को देखकर मुझे अपना बचपन नजर आता है फिर से जिलों अपना बचपन ऐसा मेरा दिल चाहता हैं न किसी से कोई उम्मदी न कोई तकलीफ बे धड़क हस्ते और रोने को दिल चाहता हैं माँ की गोद और पापा का प्यार मुझे मिल जाए एक बार फिर से मुझे बचपन जीने को मिल जाए अब तो मेरे पास एक ख्वाब हैं,

emotional love story in hindi

मेरी एक छोटी सी दरख्वास्त हैं पति देव करदो एक इच्छा मेरी पूरी और भरदो मेरी ये गोद देदो मुझे एक कान्हा जिसे खिलाओँ मैं हर  रोज जी भर के उसे प्यार करुँगी उसके हर एक  ख्वाब को मैं पूरा करुँगी चाहे उसके लिए मुझे कितने ही संघर्ष क्यू न करने पड़े मैं हर संघर्ष से नाता जोड़ लुंगी पर माँ की कमी कभी उसे होने न दूंगी उसका मासूम सा चेहरा जब होगा मेरे सामने तो खुशियों के आँसूओं को रोक न पाऊँगी शुक्रिया कहने महादेव के पास ही तो जाऊँगी , real life motivational story in hindi,

बेटे की हर शरारत पर तुम मुझे ही कोसोगी उसकी छबि मैं तुम मुझे ही देखोगी  पर धीरे से मुस्कुराकर अपने बेटे को अपने बाप की तरह बनने की प्रेणना तुम्ही उसे दौगी बच्चे के आने से पहले हर ख्वाब को तुम सजा लोगी बच्चा करने के लिए मुझसे तुम लड़ लोगी फिर  धीरे से गले लगा कर मुझे समझा लोगी बे इश्क मोहब्बत हैं तुमसे तुम्हारे हर एक ख्वाब को मैं  पुरा  करूँगा अगले वर्ष तुम्हारी गोद मैं जरूर भरूंगा, short motivational love story in hindi,

हर कहानी का पहला पन्ना तुम ही पल्टाओगी  बच्चा आने से पहले अपना और मेरा नाम का नाम करण करके  कियांस नाम तुम रखोगी हर संस्कार तुम उसमे डालोगी उसे पढ़ाने के लिए तुम मुझसे भी लड़ लोगी बे इंतेहा मोहब्बत करोगी उससे  सही मार्ग पर तुम्ही उसे चलाओगी

और धार्मिक्ता का पाठ भी तुम्ही उसे पढाओगी जो हमना कर पाए कभी वो तुम उससे कहने को कहोगी जो दिल मैं आए वो तुम करना बस नाम हमारा कभी ख़राब न करना आज मैं हैं जिंदगी उसे जीने को तुम कहोगी इतना यंकी हैं तुम पर उसे तुम समझा लोगी क्यू की माँ का किरदार है उसे बखूबी तुम निभालोंगी,  real life motivational story in hindi,

खुद से प्रेणना लेकर बहु को बेटी मान कर तीखी बाते कह कर  तुम उसे समझाऊँगी  बेटा कुछ कहदे यदि  तो एक थप्पड़ उसे लगाओगी हर रिश्ता तुम अपना बखूबी निभाओगी इस घर मैं किरण की खुशियों का ज्योत तुम ही जलाओगी  मैं कुछ समझाने जाऊँगा तुम्हे तो डाट कर मुझे चुप कराओगी  हर रिश्ता अपना बखूबी तुम निभाओगी,short motivational love story in hindi समंदर की तरह भीग जाएँगी,

आँखे तुम्हारी जब बहू से होगी बहस तुम्हारी रो रो कर आँखे लाल करलोगी खाने से भी इंकार कर दौगि खिलाने आऊँगा तुम्हारे पास तो उठ कर चली जाऊगी अकेले मैं बैठ कर खुद को कौस लोगी मेर लाख पूछने के बाद भी मुझे कुछ भी बया न करपा-ओगी दूंगा कस्मे तुम्हे तो मुह फेर लोगी  थामूंगा जब हाथ तुम्हारा मैं  तो सीने से मेरे लग जाओगी,

बस देख लूंगा आँखो मैं आँखे डाल कर तुम्हारे तो गंगा,जमना,सरस्वती,नदी की तरह अपना हर दर्द अपने आप बया कर जाओगी समझाऊंगा बेटे और बहु को तो खुश हो जाओगी सीने से फिर बहु बेटे को गले लगा-ओगी,real life motivational story in hindi,

Read Also – self confidences kaise badhaye 

emotional love story in hindi

 बुढ़ापे मैं भी तुम्हारा बैसाखी बनकर सहारा बनूगा रूठ कर बैठ जाओगी तब भी तुम्हे मनाऊँगा साथ चलने के वादे किये हैं साथ फेरे तेरे संग लिए हैं कैसे छोड़ देता तेरा हाथ जिसे दिया हो खुद पापा ने आशीर्वाद सुबह उठने से पहले तुम्हे देखता हु तुम न हो मेरे पास तो बेचैन हो जाता हु तुम न रही तो घबरा जाता हु,

मैं तुम्हारे साथ लिए हर फेरे का मान रखूँगा मैं खुद से पहले तुमसे प्यार करूँगा मैं  मौत आ भी जाए तो पहले मैं मरूंगा जवानी से लेकर बुढ़ापे तक हर कदम पर साथ  तुम्हारा दूंगा, real life motivational story in hindi विश्वाश की नीव से बना हमारा प्रेम का पुल हैं कैसे इसे मैं तोड़ दू और कैसे मैं तुम्हे छोड़ दो  मुझे छोड़ कर जाने से इतना बस कह देने से  मेरे प्रेम का पुल डगमगा जाता हैं,

कही टूट न जाए इसलिए मैं घबरा जाता हु फिर कभी न कहना मैं तुम्हे छोड़ कर जाऊँगी बस इतना सा कहना  तुम्हारी बाहो मैं ही मर जाऊँगी पर तुम्हे कभी छोड़ कर न जाऊँगी सोच कर देख  पगली  जो इंसान तुम्हारे प्यार को पाने के लिए 10 साल तरसा हैं ,

वो कैसे तुम्हे छोड़ सकता हैं उसका प्रेम तो बस अटूट हो सकता हैं  जा तो तुम तभी पाओंगी जब काल मुझे घेर लेगा  जैसे मेरे रोम रोम मैं बसे  हो तुम हर जगह मुझे घेरे हो तुम आंखे बंद करो तो तुम्ही तुम दीखते हो मुस्कुरा कर देख भर लेती हो तो सारा गुस्सा पि जाते हैं हम short motivational love story in hindi,

और किया किया लिखू तेरी याद मैं बाते कम पड़ जाएंगी मेरे पास मैं हर यादो को दिल मैं सजा रखा हैं तुम्हे तो मैंने दिल मैं बैठा रखा हैं देखा था जब तुम्हे पहली नजर मैं हमने तो नींदे तुमने हमारी चुरा ली थी अब तो हमने तुम्हे तुम्ही से चुरा लिया तो जित हमारी हुई 

तुमसे पहली बार मिले थे उस डेट को भी याद रखा हैं चलो लिखना बंद करता हु थोड़ा सा तुम्हे याद करता हु फिर मुलाकात होगी फिर से यादो की बात होगी अगले वर्ष फिर लिख्नेगे ३० वे जन्मदिन पर मुबारक हो तुम्हे अपना  29 वा  जन्मदिन  real life motivational story in hindi,

मुबारक हो तुम्हे अपना जन्मदिन खुशियों से भर जाए तुम्हारा आज का ये दिन हर ख्वाब अपने पुरे करना इस साल खूब इंजॉय करना 

तुम्हे ख्वाबो मैं भी प्यार करंगे तुम्हे हर रोज याद करेंगे 

हिचकिया ले ले कर थक जाओगी तुम्हे इतना परेशान करेंगे  short motivational love story in hindi

 

अपना 29 वा  जन्मदिन  इसे जरा अच्छे से मनाना हर साल की तस्वीर अपनी  अच्छे से खिचाना  यादो का बंडल बना कर हमें WhatsApp कर देना फिर लिखेंगे मोहब्बत की लकीर से यादो के पन्ने पड़ना फिर इसे अपने ३०वे जन्मदिन पर 

 हैं नहीं तुम्हे देने के लिए कुछ मेरे पास क्यू की तुम हो मेरे खास तुम्हारे साथ बिताए हर एक लम्हे को तस्वीर मैं कैद कर रहा हु यादो के सुनहरे पन्ने तुम्हे भेट कर रहा हु लिख रहा हु कुछ मोहब्बत की कलम से इसे मेरे जज्बात समझना तोहफा समझ कर इसे कबूल करना ,

 

“ Wish You Very Happy Birthday Dear Kiru “My Better Half “

                                                                            13/05/2023

 

राधे कृष्णा

Please enable JavaScript in your browser to complete this form.
Name
             

about me which are enough for you to know about me, I like to write and I write part time as I get time, yet my article is published everyday

Leave a Comment